Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now
Join Google News Join Now

Digital Technology AI : गरीबी को मिटाने के लिए AI बनेगा सबसे बड़ा साथी, अब गरीबों का बेहतर होगा स्वास्थ्य

Share this Article

5/5 - (1 vote) : Rate this Page By giving Stars

Digital Technology AI : भारत में जब वह वैश्विक लीडर बने और उसके बाद आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) को अपनी बड़ी आबादी के व्यापक हित में उपयोग करने की दिशा के आगे बढ़ रही है | तभी इसके मध्य नजर स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने से लेकर गरीब भी उन्मूलन के बड़े-बड़े लक्ष को हासिल करने के लिए आई एक बहुत ही अच्छा शास्त्र साबित हो सकता है |

खासकर वर्तमान समय में पूरी दुनिया के लिए चुनौती बनी टीवी जैसी बीमारियों तथा इसके इलाज के लिए नए टीका विकसित कर इसके रोल आउट में आई क्रांतिकारी साबित हो सकता है | बिल और मलिंडा गिल्स फाउंडेशन के सीईओ  CEO मार्क सुजमैन जिन्होंने अभी-अभी परोपकार के उद्देश्य से फाउंडेशन के अब तक के सबसे बड़े बजट की घोषणा की है, तो नीचे दिए गए पोस्ट के माध्यम से लिए जानते हैं डिजिटल आई टेक्नोलॉजी के बारे में विस्तृत जानकारी इसके लिए आपको इस पोस्ट को पूरा पढ़ना होगा ।

Digital Technology AI
Digital Technology AI

Digital Technology AI : गरीबी को मिटाने के लिए AI बनेगा सबसे बड़ा साथी, अब गरीबों का बेहतर होगा स्वास्थ्य

साल 2024 के पिछले सप्ताह ही 8.6 बिलियन डॉलर का एक नया बजट घोषित किया गया है, जो कि किसी परोपकार के लिए अब तक का सबसे बड़ा बजट साबित हुआ है | हम वैश्विक दक्षिण के अधिकांश हिस्सों को सामाजिक कार्यों के लिए एक अवसर के रूप में देखते हैं | भारत इसमें अपवाद है क्योंकि यह तेजी से विकास कर रहा है बाल और मृत्यु दर जैसे मुख्य संकट को में महत्वपूर्ण सुधार हो रहा है |

उत्तर प्रदेश और बिहार जैसे ऐतिहासिक रूप से चुनौती पूर्ण रहे राज्यों में भी काफी प्रगति हुई है लेकिन विश्व में 60 से अधिक ऐसे देश है जिन्हें वास्तव में स्वास्थ्य क्षेत्र में निवेश करने की तुलना में अंतरराष्ट्रीय कर्ज से अधिक भुगतान करना पड़ रहा है | विश्व स्थल पर मलेरिया तपेदिक एचआईवी जैसे प्रमुख संक्रामक बीमारियों से झटका भी देखने को मिल रहे हैं,

इसलिए इस बजट का मुख्य फोकस यह है कि कैसे सुनिश्चित किया जाए और फिर से प्रगति कैसे शुरू हो सके | 21वीं शताब्दी के पहले दोस्त दशकों में हमने देखा कि इसमें तेजी लाना संभव है क्योंकि भारत दुनिया को दिखा रहा है कि यह कैसे संभव हो सकता है लेकिन ऐसा करने के लिए हमें न केवल सरकारों से बल्कि परोपकारी लोगों से भी कार्यवाही समर्थन और संसाधनों की आवश्यकता है ।

Digital Technology AI : भारत फाउंडेशन में दो दशकों से अधिक समय से कर रहा है काम

वैसे तो हम लोग जो कर सकते हैं वह यह है कि अफसर मॉडलों या काम करने के तरीकों की पहचान करने में मदद कर सकते हैं | हम तकनीकी नवाचारों को भी पोषित करने में भी मदद कर सकते हैं, चाहे वह नए तक हो या नए उपचार या नहीं कृषि तकनीक इसलिए एचआईवी या एड्स की रोकथाम की शुरुआत करते हुए भारत ने बहुत ही गौरवपूर्ण ट्रैक रिकॉर्ड का लक्ष्य भी हासिल कर लिया है |

बच्चों के टीकाकरण जैसे प्रमुख क्षेत्र में भी यह कार्य कर रहा है | इसलिए हमारा फोकस एक ऐसा क्षेत्र जहां हम GAVI ग्लोबल वैक्सीन एलायंस के साथ काम करते हैं । पिछले 5 वर्षों में भारत में को बहुत अधिक सहायता प्रदान करने में भी मदद की है लेकिन अंत में नेतृत्व भारत सरकार से मिलता है जिसने NTAGI जैसे संस्थानों की स्थापना कर नए टीकों को प्राथमिकता दी है ।

Digital Technology AI : भारत वैश्विक क्षेत्र में डिजिटल लीडर है 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एक ऐसा क्षेत्र है जो बहुत ही तेजी से आगे बढ़ रहा है, जब हमारे पास आई और आईटी जैसी नई प्रौद्योगिकता आती है तो चुनौती यह होती है कि हम सबसे पहले गरीबों की जरूरत पर विशेष ध्यान दें तब तक यह सबसे अमीर लोगों को ही लाभ पहुंचाने के लिए लग जाता है | इसलिए हम बहुत ध्यान देना होगा कि आई का उपयोग कर हम वास्तव में गरीबों का समर्थन कैसे कर सकते हैं |

उसमें से कुछ तकनीकी नवाचार है स्वास्थ्य क्षेत्र, सिंचाई और शिक्षा क्षेत्र में छात्रों की जरूरत को बेहतर ढंग से कैसे समझ कर उसका समाधान निकाल सकते हैं | अभी एआई की कहानी की शुरुआत की गई है लेकिन हमारे पास बहुत कुछ उत्साह जनक उदाहरण देखने को मिलते हैं ।

Digital Technology AI : भारत के ऐसे रोमांचक नए इनोवेशन 

आज हर कोई भारत जैसे डिजिटल सार्वजनिक बुनियादी ढांचे के साथ ही करने की कोशिश कर रहा है | डिजिटल पहचान प्लेटफार्म जिसे अब भारत सरकार ने G-20 पल के हिस्से के रूप में पुनर्गठित किया है | हम जी-20 से अधिक देशों में काम कर रहे हैं ऐसी योजनाएं विकसित कर रहे हैं, जो भारतीय आधार प्रणाली पर आधारित है और इसमें फिलिपींस से मोरक्को जैसे देश में शामिल हुए हैं जहां प्रगति हो रही है | भारत के वित्तीय समावेशन के मॉडल के बारे में सोच रहे लोगों के लिए बहुत बड़ी प्रासंगिकता है कि भारत में वास्तव में इस दिशा में अपनी प्रगति की है ।

Digital Technology AI : Important Links

Join WhatsApp GroupClick Here Digital Technology AI
Join Telegram GroupClick Here New Image Sukanya Samriddhi Yojana 2023 : सुकन्या समृद्धि योजना के ब्याज दर में हुई बढ़ोतरी, अब मिलेगा 78.65 लाख रुपये

यह भी पढ़े


Share this Article

Leave a Comment

महिलाओं के लिए घर बैठे कमाई के ये है बेस्ट वर्क फ्रॉम होम आईडियास कम लागत में शुरू होने वाले सबसे सफल बिज़नेस क्या आप भी चाहते है रेलवे मे टी. सी की नौकरी तो जाने जरुरी क्वालिफिकेशन बिहार पंचायती राज विभाग में निकली 7329 पदों पर नई भर्ती सिविल इंजीनियरिंग में भारत की टॉप पांच नौकरियां