Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now
Join Google News Join Now

Career After Study Abroad : विदेश में पढ़ने का क्या है महत्व और benefits, जानें पूरी जानकारी विस्तार से

Share this Article

5/5 - (1 vote) : Rate this Page By giving Stars

Career After Study Abroad : वर्तमान समय में हर भारतीय स्टूडेंट का सपना विदेश में पढ़ने और जॉब करना है | मैं आपको बता दूं कि विदेश में पढ़ाई के दौरान स्टूडेंट जहां अपने इंटरनेशनल नेटवर्क को बढ़ाने से लेकर नई संस्कृति का अनुभव करते हैं, वही वह एजुकेशन के करियर को भी लाभ पहुंचा सकते हैं |

साथ ही विदेशी कंपनी में जॉब भी कर सकते हैं, इसी कारण हर साल विदेश में रह कर पढ़ाई करने वाले छात्रों की संख्या बढ़ रही है |वर्तमान में लाखों स्टूडेंट कनाडा, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों में रखकर अपनी पढ़ाई को कर रहे हैं | दूसरे कंट्री में पढ़ने से स्टूडेंट को अपने लैंग्वेज स्किल्स को सुधारने का मौका मिलता है |

क्लासेस में किसी भी लैंग्वेज को पढ़ना फायदेमंद होता है लेकिन इस रियल दुनिया में लागू करना पूरी तरह से एक अलग एक्सपीरियंस होता है | लैंग्वेज स्किल डेवलप करने से आपके करियर पर भी सकारात्मक असर पड़ता है | नीचे दिए गए पोस्ट के माध्यम से Career After Study Abroadसे जुड़ी सभी जानकारी विस्तार पूर्वक बताई जा रही है, अतः आप इस पोस्ट को पूरा अवश्य पढ़ें।

Career After Study Abroad
Career After Study Abroad

विदेश में पढ़ने का क्या है महत्व और benefits, जानें पूरी जानकारी विस्तार से | Career After Study Abroad

विदेश में पढ़ने से छात्रों को बहुत अलग-अलग तरह के लाभ दिए जाते हैं-

Career After Study Abroad : विदेश में पढ़ने का महत्व

विदेश में एजुकेशन क्वालिटी दी जाती है, खासकर वहां जहां अलग-अलग देशों के इंटरनेशनल छात्र होते हैं | अपने इंटरनेशनल एजुकेशन सर्टिफिकेट से आपको सभी देशों में अच्छे जॉब्स के अवसर दिए जाते हैं | दुनिया एक करियर platform बन जाता है जो की इंटरनेशनल नौकरी कम ईयर रोजगार की संभावनाओं को बढ़ा देता है | विदेश में पढ़ाई करने से टाइम के साथ उसे देश में कहीं और बसने में मदद मिल जाती है | अलग-अलग तरह के लोगों और संस्कृतियों से मिलना और उनका अनुभव करना होता है ।

Career After Study Abroad : स्टडी अब्रॉड के top benefits क्या हैं

अलग-अलग देश और संस्कृतियों में जीवन के अनुभव प्राप्त करना विदेश में पढ़ाई करने का एक बड़ा अट्रैक्शन का केंद्र बन चुका है | जीवन को एक नए तरीके से शुरू करने का सोच ही डरने वाला हो सकता है लेकिन एक नए देश में रहकर चुनौतियों पर काबू करना सेल्फ कॉन्फिडेंस और स्वतंत्रता को बढ़ाता है | इसके साथ ही आपको किसी देश को बेहतर तरीके से जानने की अनुमति भी देता है ।

Career After Study Abroad : विदेश में पढ़ने के बाद Career scope और salary

दूसरे देशों में जाॅब व सैलरी को लेकर हर साल नेशनल एसोसिएशन ऑफ कॉलेज और एम्पलाई और उस ब्यूरो कोर्स को लेकर डाटा जारी करता है | यह जानने के लिए की किस फील्ड में कितनी सैलरी मिलती है |

  • अगर आप मैकेनिकल इंजीनियरिंग के क्षेत्र में नौकरी करते हैं तो आपके करीब 60 लख रुपए सालाना दिया जाता है | इसमें अलग-अलग उद्योगों के लिए मशीनरी और उनके पार्ट्स को डिजाइन व डेवलप किया जाता है |
  • सिविल इंजीनियर करने के बाद साल में 60 लख रुपए मिलते हैं | ऑस्ट्रेलिया, यू एस, यूएई, कनाडा जैसे जगह पर हर समय इसकी बंपर डिमांड रहती है |
  • बायोमेडिकल इंजीनियरिंग करने पर लगभग वर्ष में 58 लख रुपए दिए जाते हैं,  मेडिकल के क्षेत्र में इस समय जमकर इंजीनियरिंग स्किल का इस्तेमाल किया जा रहा है |
  • फाइनेंस में काम करने पर ₹60 लाख साल में दिए जाते हैं, इन्हें मनी एक्सपर्ट के तौर पर भी जाना जाता है | इनका काम क्लाइंट को वीडियो प्रबंधन की सलाह देना और निवेश और सेवन निर्मित योजना पर वित्तीय सलाह देना होता है |
  • पेट्रोलियम इंजीनियरिंग का जॉब करके आपके करीब 60 लख रुपए सालाना मिलता है, इसका काम जमीन के नीचे से तेल और गैस निकालने के लिए ऐसे रास्ते खोजने होता है जिससे कि कंपनी को फायदा मिला और पर्यावरण पर कम असर पड़े यहां पर सुरक्षा को भी ध्यान में रखना होता है ।

Career After Study Abroad : विदेश में पढ़ने के लिए कैसे जाएं

  • विदेश में किसी विश्वविद्यालय में आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले किस प्रोग्राम के लिए आवेदन करना चाहते हैं उसे चुनना होगा |
  • कोर्स को चुनकर आपको जिसमें इंटरेस्ट हो उसके लिए विशेषज्ञ था और रुचियां के आधार पर पाठ्यक्रमों के लिए आप आवेदन कर सकते हैं |
  • अगर जीआरई या जीमैट को क्रैक करने की जरूरत है तो इसके लिए आपको जाना होगा ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म का इस्तेमाल करके आपको ऑनलाइन आवेदन करना होगा |
  • विदेश में अध्ययन करने के लिए अपने बजट की योजना बनानी होगी |
  • सभी डाक्यूमेंट्स को तैयार करना होगा छात्र वीजा के लिए आवेदन करके अपने देश में वीजा इंटरव्यू में भाग ले सकते हैं ।

Career After Study Abroad : विदेश में पढ़ने से पहले क्या-क्या तैयारियां करनी होती है

विदेश में पढ़ने से पहले आपको अपनी प्राइमरी या सेकेंडरी एजुकेशन को अच्छे मार्क्स से पूरा करना होता है और विदेश में पढ़ने से पहले आपको यह सभी परीक्षाएं देनी होती है | इसके लिए आपको इंग्लिश लैंग्वेज की अच्छी पकड़ होनी चाहिए, जिसके बाद आप विदेश में पढ़ाई कर सकते हैं | इसके साथ ही साथ आपके पास सारे एजुकेशनल डॉक्यूमेंट और पेपर्स होने चाहिए और आपके पास पासपोर्ट और वीजा का भी होना आवश्यक है ।

Career After Study Abroad : Important Links

Join WhatsApp GroupClick Here Career After Study Abroad
Join Telegram GroupClick Here New Image Sukanya Samriddhi Yojana 2023 : सुकन्या समृद्धि योजना के ब्याज दर में हुई बढ़ोतरी, अब मिलेगा 78.65 लाख रुपये

यह भी पढ़े :


Share this Article

Leave a Comment

अगर जीवन में लेने है सही फैसले तो, गांठ बांध लें ये 4 महत्वपूर्ण बातें डाककर्मी घर-घर जाकर सूर्योदय मुफ्त बिजली योजना का बतायंगे लाभ Science, Arts या Commerce कौन सा सब्जेक्ट है बेस्ट झारखण्ड हाई कोर्ट असिस्टेंट के पदों पर आवेदन प्रक्रिया शुरू अग्निवीर योजना के 25000 से अधिक पदों पर आवेदन 20 फरवरी से शुरू